इन्डसमोटोसमाचारहोंडा की पोर्टेबल श्वासपरीक्षक यंत्र नशे में ड्राइविंग के लिए मदद करेगी
शेयर करे

होंडा की पोर्टेबल श्वासपरीक्षक यंत्र नशे में ड्राइविंग के लिए मदद करेगी

01 Apr 2016
होंडा और हिताची ने एक श्वासपरीक्षक यंत्र का एक छोटा सा प्रोटोटाइप तैयार किया है जिसे कार के स्मार्ट कुंजी में एकीकृत किया जा सकता है। पहले से ही इस प्रकार कई उच्च तकनीकी उपकरणें बाजार में उपलब्ध है

होंडा और हिताची ने एक श्वासपरीक्षक यंत्र का एक छोटा सा प्रोटोटाइप तैयार किया है जिसे कार के स्मार्ट कुंजी में एकीकृत किया जा सकता है। पहले से ही इस प्रकार कई अन्य उच्च तकनीकी उपकरणें बाजार में उपलब्ध है जो चालक को उनके नशे की स्तर जानने में मदद करेगी। सबसे उक्च कोटि की यंत्र डीएडीएसएस है, यह एक ऐसी प्रणाली है जिसे, परिवहन के राष्ट्रीय राजमार्ग यातायात सुरक्षा प्रशासन के अमरीकी विभाग द्वारा तैयार किया गया है और जल्द ही यह उत्तरी अमरीका में बेचे जाने वाली नई कारों की केबिन में मानक के तौर पर लगाई जाएगी।

बाकि उपकरणों से होंडा की यह उपकरण इस मामले में अलग है कि यह एक मोबाइल की तरह है – इसे कभी भी कहीं भी, श्वास परीक्षण के लिए उपयोग किया जा सकता है। निर्माता के अनुसार, इस गतिशीलता का मतलब है, उपयोगकर्ता को श्वास परीक्षण के लिए कार के भीतर जानेकी जरूरत नहीं होगी। यह ड्राइव के लिए किसी भी प्रकार के प्रलोभन को कम करने में मदद करेगा।

इसे कार की कुंजी में एकीकृत किया जाएगा। श्वास का एक नमूना उपलब्ध कराने के 3 सेकेंड बाद चालक को यह पता लग जाएगा कि वह कार को चलाने में सक्षम है या नहीं। अगर श्वास परीक्षण में यह परिणाम निकलता है कि चालक कार को चलाने में सक्षम नहीं है तो उससे द्वारा कुंजी नहीं खुलेगी और कार स्टार्ट नहीं होगी।

श्वासपरीक्षक को कुंजी में फिट करनेके लिए इसका आकार ना ज्यादा बड़ा ना ज्यादा मोटा रखा गया है इसका आकार एक क्रेडिट कार्ड जितना है और आसानी से यह कुंजी में एकीकृत हो पाएगी। हिताची के लिए अभी इसमें लगाने वाले सेंसर को डेवलेप करना बाकि है जिसका क्षेत्रफल 5 मिमी तक होगा। यह यंत्र, ओ.015 मिलीग्राम प्रति लीटर तक की सबसे कम मात्रा में एथेनौल कंसन्ट्रेशन को डिटेक्ट कर सकता है। यह अपनी गणना श्वास द्वारा उत्पन्न हाइड्रोजन और मेटाबोलिज्ड एसीटल्डीहाइड की मात्रा और एक अल्गोरिथम द्वारा करता है।

हालांकि अभी तक इस यंत्र का बस प्रोटोटाइप तैयार किया गया है पर होंडा और हिताची जल्दी ही इसके पीछे की तकनीक का व्यवसायीकरण करना चाहते है। अभी वर्तमान में यह यंत्र जापान के ड्रींक ड्राइविंग कानूनों के अनुसार जांची गई है, पर कंपनी का इरादा इस स्मार्ट कुंजी को विभिन्न बाजारों और कानूनों के लिए भी उपल्ब्ध कराने का है।

यह कार्य पहले से ही संपादित है और 12 अप्रैल को कंपनी, अधिकारिक तौर पर इसके प्रोटोटाइप और शोध निष्कर्षों को संयुक्त राज्य अमरीका के मिशिगन, डेट्रॉयट में एसएई वर्ल्ड कांग्रेस के दौरान पेश करेगी।

श्रोत : आइबीएन लाइव     

हमसे संपर्क करें

अधिक संबंधित समाचार

हमसे संपर्क करें

दूसरी मंजिल, डी -70, सेक्टर - 10 , नोएडा, उत्तर प्रदेश
फ़ोन: 0120-4229716 / 09599365814
ईमेल: info@indusmoto.com