इन्डसमोटोसमाचारह्युंडई विद्युत एसयूवी, ग्रैंड आई10 और एलिट आई20 को भारत ला रही है
शेयर करे

ह्युंडई विद्युत एसयूवी, ग्रैंड आई10 और एलिट आई20 को भारत ला रही है

09 Aug 2017
  • ह्युंडई विद्युत एसयूवी, ग्रैंड आई10 और एलिट आई20 को भारत ला रही है
2030 तक भारत को विद्युत देश बनाने की भारत सरकार की इच्छा एक महत्वाकांक्षी योजना के रूप में देखी जाती है। ह्युंडई समेत कई निर्माताओं ने जीएसटी के कार्यान्वयन के बाद हाइब्रिड वाहनों को लाने की अपनी योजना रद्द कर दी है, जो की हाइब्रिड को उच्चतम टैक्स श्रेणी में रखती है।

2030 तक भारत को विद्युत देश बनाने की भारत सरकार की इच्छा एक महत्वाकांक्षी योजना के रूप में देखी जाती है। ह्युंडई समेत कई निर्माताओं ने जीएसटी के कार्यान्वयन के बाद हाइब्रिड वाहनों को लाने की अपनी योजना रद्द कर दी है, जो की हाइब्रिड को उच्चतम टैक्स श्रेणी में रखती है। अब कोरियाई निर्माता 2018 के अंत तक एक मिनी विद्युत एसयूवी लाने की योजना बना रही है। ह्युंडई एलिट आई20 और ग्रैंड आई10 हैचबैक के भी विद्युत संस्करणों को पेश करने की योजना बना रही है। ह्युंडई ने पहले ही आयोनिक हाइब्रिड को भारत में लाने की योजना को रद्द कर दिया है, लेकिन कंपनी अब अगले सर्वश्रेष्ठ विकल्प - विद्युत कारों पर विचार कर रही है। वाई के को, एमडी, ह्युंडई इंडिया ने टीओआई से बात करते हुए कहा कि निर्माता सरकार की विद्युत कारों की योजना पर ध्यान केंद्रित करना चाहता है और नीतियों और मानदंडों का पालन करना चाहता है। टीओआई से बात करते हुए, वाई के कू ने कहा, "निचले सेगमेंट उत्पादों पर विद्युत कारों को लागू करना बेहतर है। उदाहरण के लिए, ग्रैंड आई10 और आई20 आदि। भारतीय बाजार की बात आती है तो बड़ी कारों की तुलना में छोटी कार विद्युत के लिए अधिक सुविधाजनक, ज्यादा आसान और अधिक व्यावहारिक होती है। " ह्युंडई के पास अभी उनके पोर्टफोलियो में कोई भी मिनी विद्युत एसयूवी नहीं है। निर्माता अपनी नई एसयूवी, कोना के विद्युतीकृत संस्करण ला सकती है। एसयूवी 2018 जिनेवा मोटर शो में अपनी वैश्विक शुरुआत करेगी और इस वर्ष के अंत तक इसके भारतीय बाजारों में आने की उम्मीद है। विद्युत कोना की 300 किमी की रेंज होगी और यह कई अंतरराष्ट्रीय बाजारों में उपलब्ध होगी। ह्युंडई बिक्री लाने के लिए लोकप्रिय हैचबैक ग्रैंड आई10 और एलिट आई20 को भी विद्युत कार बनाने की योजना बना रही है। ह्युंडई भारत में विद्युत वाहनों की स्थापना के लिए निश्चित निवेश पर योजना नहीं बना रही है। निर्माता के पास पहले से ही विकसित बाजारों में उपलब्ध विद्युत वाहनों के कुछ विकल्प हैं और इसी तकनीक को भारतीय परिस्थितियों में अनुकूलित किया जा सकता है। हालांकि, ह्युंडई का मानना है कि सरकार को निर्माताओं और उपभोक्ताओं दोनों के लिए ईवीएस लाने के लिए अधिक लाभ की पेशकश करनी चाहिए। कु ने यह भी कहा कि भारत को इस तरह के वाहनों को बढ़ावा देने के लिए देश भर में चार्जिंग स्टेशन जैसे व्यापक आधारभूत संरचना की जरूरत है। श्रोत: कारटॉक़

हमसे संपर्क करें

अधिक संबंधित समाचार

हमसे संपर्क करें

दूसरी मंजिल, डी -70, सेक्टर - 10 , नोएडा, उत्तर प्रदेश
फ़ोन: 0120-4229716 / 09599365814
ईमेल: info@indusmoto.com